Text Stories

जहरीली शराब मामले में प्रशासन की ताबड़तोड़ कार्रवाई, मुख्यमंत्री ने कहा – मौत के सौदागरों को नेस्तनाबूद किया जाए

उज्जैन, द टेलीप्रिंटर। मध्यप्रदेश के उज्जैन में जहरीली शराब पीने से हुई 14 लोगों की मौत के बाद अब प्रशासन ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रहा है। मामले में अब तक 71 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं कलेक्टर ने जहरीली शराब बनाने वालों पर रासुका लगा दी है। दूसरी तरफ मामले की जाँच के लिए गृह विभाग के सचिव राजेश राजौरा समेत एसआईटी की टीम उज्जैन पहुँच गई हैं।

दरअसल उज्जैन में जहरीली शराब पीने से 36 घंटे में 14 लोगों की मौत हो गई है। मामला सामने आने के बाद उज्जैन से लेकर भोपाल तक सरकार और प्रशासन में हड़कम्प मच गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मामले की जांच के लिए एसआईटी की टीम को उज्जैन भेजा है।

इस मामले में उज्जैन एसपी ने कहा कि मजदूरों की मौत जहरीली शराब पीने की वजह से हुई। इस शराब को यहां झिंझर कहा जाता है। पुलिस ने इस मामले में 71 लोगों को गिरफ्तार किया है जबकि नगर निगम के अस्थाई कर्मचारी सिकंदर और गब्बर की तलाश जारी है। इसके अलावा उस पार्किंग की भी जांच की जा रही हैं, जहां आरोपी झिंझर शराब को बनाते थे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार सुबह अधिकारियों से इस मामले में की जा रही कार्रवाई को लेकर जानकारी ली है। उन्होंने अधिकारियों को सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि, ‘मिलावटखोरों के विरुद्ध सख्त एक्शन लिया जाए। किसी भी तरह की मिलावट का मामला हो, दोषी व्यक्ति बचना नहीं चाहिए। आम जनता को बचाने के लिए सभी संबंधित विभाग सतर्क, सजग और सक्रिय रहें।‘

Show More

Related Articles

Back to top button