Text Stories

उज्जैन में 24 घंटे में 9 मजदूरों के शव मिले, चार पुलिसकर्मी सस्पेंड, कमलनाथ ने साधा निशाना

उज्जैन द टेलीप्रिंटर। मध्यप्रदेश के उज्जैन में 24 घंटे के अंदर 9 मजदूरों के शव मिलने से सनसनी फ़ैल गई है। प्रथम दृष्टया ज्यादा शराब पीने से इनकी मौत होने की वजह सामने आ रही है। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का सही कारण सामने आ पाएगा। दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस घटना को लेकर सरकार पर निशाना साधा है।

बता दे कि बुधवार सुबह पुलिस को 7 मजदूरों के शव बरामद हुए थे, वहीं गुरुवार सुबह दो और मजदूरों के शव मिले है। 24 घंटे के अंदर 9 मजदूरों की मौत का मामला सामने आने से इलाके में सनसनी फ़ैल गई है। मामले में मध्य प्रदेश सरकार ने सख्ती दिखाई तो उज्जैन एसपी मनोज सिंह ने लापरवाही बरतने और अधिकारियों को गुमराह करने पर खाराकुआं टीआई सहित चार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया।

इस मामले को लेकर उज्जैन पुलिस ने अब तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। उज्जैन पुलिस की दो टीम मामले की जाँच कर रही है। इस बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मामले में एसआईटी का गठन कर दिया है और अपर मुख्य सचिव गृह से मामले की रिपोर्ट मांगी है। पूरे मामले को लेकर उज्जैन एसपी का कहना है कि 9 मजदूरों की मौत झींझर पीने से हुई है।

दूसरी तरफ उस मामले को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधा है। कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा कि, ‘उज्जैन में शराब माफिया ने 9 जाने लीन ली, 9 परिवार बर्बाद कर दिये। शिवराज जी, ये माफिया कब तक यूँ ही निर्दोषो की जान लेते रहेंगे? हमने इन्हें कुचला था, हमारी सरकार जाते ही ये फिर बेख़ौफ़ हो गये, फिर सक्रिय हो गये? आपकी सरकार का माफ़ियाओ से आख़िर इतना प्रेम क्यों? क्यों इन्हें बख्शा जा रहा है? क्यों इन्हें संरक्षण दिया जा रहा है? मृतकों के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। पीड़ित परिवारो को न्याय मिले, उनकी हर संभव मदद हो, दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो।‘

Show More

Related Articles

Back to top button